CISF की गोली से हुई मौत सवालों के घेरे में: घटना को लेकर जांच शुरू हो रही है पूछताछ , राज्य सरकार को भेजी जायेगी रिपोर्ट

धनबाद29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सीआईएसएफ की गोली से हुई मौ सवालों के घेरे में - Dainik Bhaskar

सीआईएसएफ की गोली से हुई मौ सवालों के घेरे में

धनबाद में CISF के जवानों की गोली से हुई चार लोगों की मौत सवालों के घेरे में हैं। घटना की मजिस्ट्रेट स्तर की जांच शुरू हो गई है।डीसी संदीप कुमार ने जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। इन चार लोगों की मौत को लेकर कई सवाल हैं जिसके जवाब की तलाश होगी। इस घटना को लेकर कई तरह के सवाल हैं ?

मजबूर हैं मजदूर, माफिया चला रहे हैं काला कारोबार

चार मजदूरों की मौत के पीछे सिर्फ सीआईएसएफ की गोली नहीं है। कोयले के अवैध खनन को हवा देने के लिए कई माफिया इन मजदूरों का इस्तेमाल करते हैं। बीसीसीएल का मुख्य रूप से पांच इलाका ऐसा है जहां कोयला तस्करों की नजर है और यहां से कोयले की अवैध तस्करी होती है, इनमें मुख्य रूप से ब्लॉक टू के साथ- साथ कुसुंडा, बस्ताकोला, कतरास भी शामिल है। सुरक्षा के लिए बीसीसीएल प्रबंधन हर साल करोड़ों रुपये खर्च करता है, कई तरह के निगरानी उपकरण लगाये गये हैं. CISF जवानों को भी खुद को बेदाग साबित करने का दबाव है तो दूसरी तरफ हत्या में मारे गये लोगों के परिजन जांच की मांग पर अड़े हैं।

छह महीने पहले ही हुआ था तबादला
छह महीने पहले ही बीसीसीएल यूनिट में पदस्थापित CISF के पुराने जवानों का तबादला हुआ, ऐसे में तस्करों से निपटने के लिए अपनाये गये इनके तरीके पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी है। CISF जवान को अलर्ट मोड पर रखा गया है। |

घटना की जांच शुरू, हो रही है पूछताछ
घटना की मजिस्ट्रेट जांच शुरू हो चुकी है। नंदकिशोर गुप्ता की अगुआई में दो सदस्यीय कमेटी बनाई गई है। कमेटी में एसडीओ प्रेमकुमार तिवारी को भी शामिल किया गया है। जांच के बाद इस घटना की प्रारंभिक रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी जानी है। डीसी ने बताया कि टीम से इस मामले की जांच के बाद जल्द से जल्द रिपोर्ट जमा करने का आदेश दिया गया है। इस मामले में टीम पूछताछ करने लगी है।

गलती से चली गोली
CISF के डीआईजी विनय काजला ने घटना के संबंध में बताया कि कोयला चोरी करने आए बाइक सवार उग्र हो गए। CISF जवानों से वे हथियार छीन रहे थे। रायफल छीना-झपटी में गोली चली और तस्करों को लग गई। CISF ने दावा किया कि मारे गए लोग कोयला तस्करी के लिए पहुंचे थे। मामले में CISF की ओर से 100 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गई है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp