90 प्रतिशत कर्मचारी निकला चुके हैं पीएफ का पैसा: आंदोलनरत एचईसी के अधिकारी, 12 महीने से नहीं मिला है वेतन, दिल्ली जायेंगे डॉयरेक्टर्स

  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Agitating HEC Officers, Salaries Have Not Been Received For 12 Months, Directors Will Go To Delhi

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
90 प्रतिशत कर्मचारी निकला चुके हैं पीएफ का पैसा - Dainik Bhaskar

90 प्रतिशत कर्मचारी निकला चुके हैं पीएफ का पैसा

एचईसी में पिछले पांच दिनों से अधिकारी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। विरोध प्रदर्शन कर रहे अधिकारियों की मांग है कि 12 महीने का बकाया वेतन शीघ्र दिया जाए। अधिकारियों ने कहा एचईसी को बचाना है तो सबसे पहले स्थायी सीएमडी की मांग पूरा करें। जब तक स्थायी सीएमडी नहीं होगा, एचईसी को बचाना मुश्किल होगा। अधिकारियों का कहना है कि मौजूदा सीएमडी नलिन सिंघल को अतिरिक्त प्रभार हैं जब से इन्होंने पद संभाला है प्लांट का एक बार भी दौरा नहीं किया है। एचईसी में 3500 कर्मचारी हैं। इसके अलावा आसपास के छोटे दुकानदारों की कमाई भी एचईसी के कर्मचारियों से होती है। एक अनुमान के मुताबिक एचईसी लगभग 30 हजार लोगों का पेट पलता है।

दिल्ली जायेंगे डायरेक्टर्स
एचईसी के डायरेक्टर्स राणा एस चक्रवर्ती और एम.के सक्सेना दिल्ली जायेंगे। यहां उद्योग मंत्रालय से वेतन सहित अहम मुद्दों पर उद्योग सचिव से बात करेंगे। एचईसी के संचालन में किस तरह की परेशानियों का जिक्र करेंगे।

आंदोलन में मजदूर भी हो सकते हैं शामिल
एचईसी में सिर्फ वरिष्ठ अधिकारियों का नहीं काम करने वाले मजदूरों का वेतन भी बकाया है। ऐसे में अब मजदूर भी अफसरों के आंदोलन के साथ शामिल हो सकते हैं। स्थिति यह है कि अधिकारी अपने घर का राशन लेने में सक्षम नहीं है। पीएफ का पैसा निकाल चुके हैं। अधिकारियों ने घर के लिए और गाड़ी के लिए लोन ले रखा है। एचईसी के अधिकारी बलबीर सिंह ने बताया कि आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, राशन के पैसे नहीं है, बच्चों की फीस भरना मुश्किल हो गया है। 12 महीने से बगैर वेतन के घर चलाना आसान नहीं है।

एचईसी की हालत खराब
एचईसी के तीनों प्लांट जिसमें एचएमबीपी, एचएमटीपी और एफएफपी में 80 प्रतिशत काम बंद है। 20 प्रतिशत काम पुराने वर्क ऑर्डर के हैं। पूंजी के अभाव में कच्चा माल उपलब्ध ना होने के कारण एचईसी के पास पड़े काम भी ठप पड़े हैं। यदि इसे केंद्र सरकार से राहत पैकेज उपलब्ध नहीं होता तो यह बंद हो सकता है। अभी भी एचईसी के पास 15 सौ करोड़ रुपये का वर्क आर्डर है।

इसरो के लॉचिंग पैड बनाने के लिए नहीं है स्टील
एचईसी देश के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है लेकिन अब इसरो के लांचिंग पैड बनाने के लिए स्टील नहीं है। उपकरणों को बनाने के लिए स्पेशल स्टील की जरूरत है। एचईसी ने सेल से स्टील की मांग की, लेकिन सेल ने पहले का बकाया देने के बाद ही स्टील देने के लिए कह दिया है।

सेल का एचईसी पर करीब पांच करोड़ से अधिक का बकाया बताया जा रहा है। सेल से स्पेशल स्टील नहीं मिला तो मार्च 23 तक लांचिंग पैड की आपूर्ति असंभव होगी। एचईसी प्रबंधन ने भारी उद्योग मंत्रालय से कम से कम 1000 करोड़ की आर्थिक सहायता की मांग की है, ताकि महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट समय पर पूरा हो सके।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp