10 माह में 357 दुर्घटनाओं में 258 लोगों की मौत: त्योहारी सीजन के दो माह में दुर्घटनाओं में मौतों का आंकड़ा बढ़ा, हर दिन औसतन एक ने गंवाई जान

धनबाद13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
निरसा मोड़, जहां होते हैं अक्सर हादसे। - Dainik Bhaskar

निरसा मोड़, जहां होते हैं अक्सर हादसे।

ताेपचांची के पावापुर में मंगलवार काे अज्ञात वाहन के धक्के से एक अधेड़ की माैत हाे गई। ऐसा नहीं कि यह केवल एक मामला है। जिले में सड़क हादसाें में न केवल इजाफा हुआ है, बल्कि माैत का आंकड़ा भी बढ़ा है। सितंबर से लेकर अभी तक सड़क हादसाें में 56 लाेगाें ने जानें गंवाई हैं। पिछले 10 माह में यह आंकड़ा 258 है। त्याेहार के दाे माह में जिले में 85 से अधिक छाेटे-बड़े हादसे हुए हैं। जबकि दस माह में 357 दुर्घटनाएं हुई हैं। इसमें कई गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं।

सितबंर में 23 लाेगाें की माैत सड़क हादसे में हुई है। वहीं अक्टूबर में यह आंकड़ा 33 के पार है। दुर्गापूजा के दाैरान 4 व 5 अक्टूबर काे सड़क हादसाें में 7 लाेगाें की जान गई थी। वहीं दीपावली की रात 3 लाेगाें की माैत हुई थी। जबकि हादसाें में 109 लाेग जख्मी हुए हैं। वहीं 4 व 5 नवंबर काे सड़क हादसे में पांच की जान गई। मरने वालाें में ट्रांसपाेर्टर, बीसीसीकर्मी, छात्र, महिला सहित अन्य शामिल हैं।

10 माह से हादसाें पर राेक लगाने में डीआरएसआईयू निष्क्रिय

सड़क दुर्घटना की राेकथाम व बचाव काे लेकर सुप्रीम काेर्ट के द्वारा जिलास्तर पर जिला सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन इकाई गठित की गई है। यह जिला सड़क सुरक्षा समिति की देखरेख में काम करती है। पिछले दस माह से पदाधकारियाें के फेरबदल के कारण यह निष्क्रिय हाे गया है।

हादसे के शिकार अधिकांश बाइक सवार

जीटी राेड के अलावा अन्य सड़काें में जितने भी हादसे हुए हैं। उनमें अधिकांश बाइक सवार थे। सितबंर में हीरक राेड में बलियापुर के दाे दाेस्ताें की माैत हुई थी। दीपावली की रात ही टुंडी-ठेठाटांड़ के मालवाहक में सवार पुराेहित झरिया पूजा कराने जा रहे थे। मालवाहक के पलटने से माैके पर 1 की माैत और 18 जख्मी हुए थे। इसमें एक गंभीर काे इलाज के लिए रांची रिम्स रेफर किया गया था।

निरसा में भी पूजा के लिए पुराेहित लाने जा रहे व्यक्ति की ट्रक की चपेट में आने से माैत हाे गई थी। 31 सितंबर काे बलियापुर सड़क हादसे में एथलीट जूली बाइक से दुर्घटना की शिकार हुई। रांची में वह जीवन और माैत के बीच जूझ रही है। 6 नवंबर काे गाेविंदपुर में ट्रांसपाेर्टर, जाेरापाेखर में 13 साल का नाबालिग की सड़क हादसें में माैत हुई थी।

बरवाअड्डा और निरसा में हादसे बढ़े

बेहतर और खराब सड़क दाेनाें जगहाें पर हादसे हाे रहे हैं। ताेपचांची के लेदाटांड़, बरवाअड्डा के लाेहारबरवा माेड़, गाेविंदपुर और निरसा माेड़ पर हादसे बढ़े हैं। वाहनाें का ओवरस्पीड व जीटी राेड पर कट भी इसका प्रमुख कारण है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp