हाइटेंशन तार के चोर गिरफ्तार: सरकार को हुआ अबतक डेढ करोड़ रूपए का नुकसान, एक चूक ने पहुंचा दिया सलाखों के पीछे

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
हाइटेंशन तार के चोर गिरफ्तार - Dainik Bhaskar

हाइटेंशन तार के चोर गिरफ्तार

हाईटेंशन तार काटकर बाजार में बेचने वाले एक बड़े गिरोह का खुलासा हुआ है। डी एसपी राजीव कुमार ने बताया करीब डेढ़ करोड़ रूपए का सरकारी नुकसान हुआ है। लंबे समय से यह गिरोह इसे अंजाम दे रहा था लेकिन अपराधियों की एक गलती ने पुलिस को बड़ा सुराग दे दिया। तार काटने के बाद अपराधियों ने कटर वहीं छोड़ दी। इस कटर को ऑनलाइन खरीदा गया था, जिसमें नाम और पत्ता लिखा था। पुलिस ने इस आधार पर चोरों का पता लगा लिया।

न्यायिक हिरासत में अपराधी
हजारीबाग के कटकमसांडी एवम चतरा जिले के पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर इन अपराधियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हाईटेंशन तार काटने के सभी छह आरोपी को लातेहार तथा चंदवा थाना क्षेत्र के विभिन्न गांवों से गिरफ्तार किया। सोमवार को सभी आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है ।

कई बार तार काटकर ले गये थे अपराधी
हजारीबाग मुख्यालय डीएसपी राजीव कुमार ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि 20 अक्टूबर 2022 के रात्रि अज्ञात चोरों ने कटकमसांडी थाना क्षेत्र के मनार गांव स्थित दो बिजली टावर के हाईटेंशन तार को काटकर ले गए । कुछ दिनों के बाद सिमरिया थाना क्षेत्र के शीला ओपी अंतर्गत अनगडा गांव में 9 नवंबर 2022 की रात्रि को अज्ञात चोरों के द्वारा चाल टावर का बिजली का हाईटेंशन तार को भी काटकर ले जाने का प्रयास किया लेकिन टावर नहीं गिरने के कारण हाईटेंशन तार की चोरी नहीं हो सकी।
करोड़ों का नुकसान
डीएसपी राजीव कुमार ने बताया कि दो लाख 20 हजार क्षमता वाले तार कटने से करीब डेढ़ करोड़ रूपए का सरकारी नुकसान हुआ है। हाईटेंशन तार बडकागांव के पकरी बरवाडीह से चतरा जा रहा था । हजारीबाग पुलिस कप्तान मनोज रतन चौथे को मिली गुप्त सूचना के आधार पर उन्होंने दोनों जिला के पुलिस के संयुक्त छापेमारी टीम का गठन किया ।
पूछताछ में कबूला जुर्म
चंदवा एवं लातेहार थाना क्षेत्र से कुल 6 लोगों को पूछताछ के लिए थाना लाया गया। पूछताछ के क्रम में सभी लोगों ने दोनों घटना को अंजाम देने में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली। इनकी निशानदेही पर बिजली का टावर हाईटेंशन तार और उसे काटने में प्रयुक्त औजारों को भी बरामद किया गया। मुख्यालय डीएसपी राजीव कुमार ने बताया कि गिरफ्तार सभी आरोपी के ऊपर कई आपराधिक मामले दर्ज है।
कई अपराधी पहले भी कर चुके हैं जुर्म
गिरफ्तार छह आरोपी में से पांच आरोपी पर चतरा, लातेहार सहित कई जिलों में अपराधिक मामला दर्ज है ।अजय साव उर्फ फंटूश पर चंदवा थाना मे दो मामला दर्ज है । वही विजय सिंह पर चंदवा थाना में दो और लातेहार थाना में पांच मामला दर्ज है। जिसमें दो मामला आर्म्स एक्ट से संबंधित है।विजय साव को चंदवा पुलिस लंबे समय से तलाश रही थी। मोहम्मद इरशाद उर्फ सोनू पर चंदवा थाना में एक मामला दर्ज है। वही केदार गंझु और पौलीकर गुड़िया पर चंदवा थाना में एक एक मामला दर्ज है ।
छोटी चूक से गिरफ्त में आये अपराधी

कटकमसांडी प्रखंड के मनार गांव मे हाईटेंशन तार काटने के दौरान उपयोग मे लाया गया कटर का डब्बा छोडना पुलिस के सफलता का सबसे बड़ा हथियार साबित हुआ। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया जिस टपरिया कंपनी का चार कटर का तार काटने मे उपयोग किया गया वह कुछ ही दिन पहले आंनलाइन मंगाया गया था ।तीन बडा कटर जिसका कीमत प्रत्येक कटर 7300 सौ और छोटा कटर जिसका कीमत 6300 सौ रुपया था। कटर के डब्बे मे कंपनी का प्रोडक्ट नंबर अंकित था । जिसे तार चोरी के दिन घटना स्थल पर ही छोडकर चोर फरार हो गए थे। उसी प्रोडक्ट नंबर के आधार पर पुलिस ने खरीदने वाले व्यक्ति की पहचान कर सभी आरोपियों को पकडऩे मे सफलता हासिल की ।

कितना होता है वजन क्या होती है कीमत
चोरी गए तार सभी एल्यूमीनियम तार है। तार का वजन साढ़े चार टन है। चोर तार काटकर डाल्टेनगंज में किसी व्यक्ति के पास बेचे थे।बाजार में इसकी कीमत 13 लाख पचास हजार है। चोरों ने बताया कि एक टन की कीमत 30 से 35 हजार रुपए मिलता था। साथ ही टावर के एंगल कबाड़ी में लोहे के दर से बेचते थे

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp