समीक्षा बैठक: उग्रवाद-अपराध के खिलाफ रेंज के सभी जिले कोऑर्डिनेशन बना चलाएं अभियान

हजारीबाग5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

झारखंड पुलिस के एडीजी अभियान संजय आनंद लाटकर बुधवार को एसपी ऑफिस में हजारीबाग रेंज के सभी वरीय पुलिस पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने 2016 के पहले के सभी लंबित कांडों की समीक्षा की। लंबित कांडों के अनुसंधान मे तेजी लाने का निर्देश दिया। समीक्षा के दौरान पिछले एक माह में हजारीबाग जिला से 63 पुराने मामलों का निष्पादन किया गया जो रेंज के अन्य सभी जिला से सर्वाधिक है। पुराने मामलों के डिस्पोजल में पहले स्थान पर रहे हजारीबाग की तारीफ हुई।

इस दौरान हाल के दिनों में उग्रवादी गैंगस्टर, संगठित अपराध के विरुद्ध कार्रवाई की समीक्षा हुई। इसमें भी हजारीबाग जिला को तारीफ हुई। आज के बैठक में आगामी योजना और उग्रवादियों एवं अपराध नियंत्रण को लेकर कार्रवाई की रणनीति बनीं। जिसमें सभी जिलों को कोआर्डिनेशन बनाकर आपरेशन संचालित करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में सीआईडी डीआईजी तमिल वानन, हजारीबाग रेंज के डीआईजी नागेंद्र कुमार सिंह, हजारीबाग एसपी मनोज रतन चोथे, प्रशिक्षु आईपीएस ऋषभ गर्ग, सहित रेंज के रामगढ़, चतरा, कोडरमा, गिरिडीह जिला के एसपी, डीएसपी, एसडीपीओ, सभी सर्किल इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर थानों के थाना प्रभारी और केश के अनुसंधानक शामिल हुए। जिलावार समीक्षा करते हुए एडीजी लाटकर ने कहा कि सभी एसपी लंबित कांडों के अनुसंधान में तेजी लाएं।

अनुसंधानकर्ता को रात में बैठ कर दें दिशा-निर्देश
अनुसंधानकर्ता के साथ बैठक कर मामले को गति दें। लंबित कांडों के निष्पादन के लिए अनुसंधानकर्ता के साथ प्रतिदिन रात में बैठकर दिशा निर्देश देने का निर्देश दिया। कहा कि पिछले पांच से दस सालों का लंबित कांडों का निष्पादन शीघ्र कराएं कार्रवाई करें। हजारीबाग में सबसे अधिक साइबर अपराध के मामले लंबित हैं। कहा कि वैसे कांड जिसमे अपराधियों को पकड़ने जाना हजारीबाग से बाहर जाना है। साइबर अपराधियों की गिरफ्तारी लंबित है। उसमें सारी प्रक्रिया पूरी कर बाहर भेजे। हर हाल में कांड निष्पादन में तेजी लाएं।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp