योगदा सत्संग के नए आई हॉस्पिटल का उद्धाटन: रोटरी वाईएसएस अस्पताल में नेत्र रोग का होगा मुफ्त इलाज, रेटिना की सर्जरी भी होगी नि:शुल्क

राँची

झारखण्ड समाचार

रेटिना के जिस इलाज में करीब 50 हजार तक खर्च होता है, अब स्टेशन रोड स्थित रोटरी वाईएसएस अस्पताल में यह नि:शुल्क होगा। आंखों की हर बीमारी का इलाज रोटरी रांची और योगदा सतसंग द्वारा संयुक्त रूप से संचालित आंख अस्पताल में होगा। क्लब द्वारा रेटिना की सर्जरी के लिए लगभग 45 लाख रुपए की मशीन अस्पताल को दान में दी गई है।

इसके अलावा यहां रेटिना माइक्रोस्कोप मशीन भी लगाई गई है। रोटरी इंटरनेशनल के निदेशक एपी वेंकटेश ने बतौर मुख्य अतिथि इस अस्पताल का रविवार को उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि रोटरी को अपनी स्वार्थ रहित सेवाओं के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। क्लब के लाखों सदस्य अपने योगदान से इस सेवा को हमेशा स्थापित करते रहे हैं।

डिस्ट्रिक्ट 3250 के रोटरी गवर्नर संजीव ठाकुर ने कहा कि इस नए अस्पताल के जरिए रोटरी रांची ने अपनी सेवा भावना की सोच को फिर से दोहराया है। कार्यक्रम में जोगेश गंभीर, राजीव मोदी, डॉ. आर. भरत, गोपाल खेमका, राजन गंड़ौत्रा, पूनम ठाकुर, रेखा सिंह, क्लब सचिव हितेश भगत आदि उपस्थित थे।

फेको विधि से होगी सर्जरी, अत्याधुनिक मशीनें लगीं
प्रोजेक्ट चेयरमेन मुकेश तनेजा ने कहा कि क्लब अपने सेवाभाव के सफर में लगातार आगे बढ़ रहा है। डॉ. अनंत सिन्हा ने कहा कि रोटरी और योगदा सतसंग के नए आई हॉस्पिटल में अत्याधुनिक मशीनों से आंखों का इलाज किया जाएगा। ग्लूकोमा के इलाज के अलावा रेटिना की भी जांच अत्याधुनिक मशीन से होगी। सर्जरी फेको विधि से होगी। अस्पताल में आई ओपीडी, अत्याधुनिक ऑपरेशन थियेटर, 6 बेड का आई वार्ड, ऑप्टिकल शाॅप आदि सुविधाएं होंगी। यहां रियायती दरों पर चश्मे दिये जाएंगे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp