मिट्टी बचाओ अभियान: झील परिसर में मिट्टी बचाओ जागरूकता अभियान, बताई जीवन में इसकी महत्ता

हजारीबागएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सदगुरु द्वारा शुरू की गई मिट्टी बचाओ अभियान के तहत सेव सॉयल वाक का हजारीबाग झील परिसर में रविवार सुबह आयोजन किया गया। जिसमें ईशा फाउंडेशन के स्वयंसेवक अंजली सिंह , अंशुमन क्षेत्री, यूसेट के प्रोग्राम ऑफिसर खेमलाल सर , पतंजलि योग केंद्र के सर्वेश्वर जी , आर्ट ऑफ लिविंग के तारकेश्वर जी , विभावि के योग शिक्षक ज्ञानोदय सर तथा छात्र – छात्राएं, बाइक राइडर्स तथा अन्य लोग शामिल हुए।

इस वाक के माध्यम से लोगों के बताया गया कि वर्तमान में धरती की 52 प्रतिशत भूमि बंजर हो चुकी है। उपजाऊ मिट्टी में कम से कम 3 से 6 प्रतिशत जैविक पदार्थ होना चाहिए ,परंतु भारत के 62 प्रतिशत भूमि में यह 0.5 प्रतिशत से भी कम है। यूएन की विभिन्न एजेंसियों के अनुसार वर्ष 2045 तक विश्व की जनसंख्या 9 अरब को पार कर जाएगी और भोजन में 40 प्रतिशत तक की कमी आ जाएगी। अगर ऐसा ही चलता रहा तो वर्ष 2060 तक पूरी धरती बंजर हो जाएगी । अतः मिट्टी को बचाना आवश्यक है।

आम जनता को मिट्टी की प्रति जागरूक किया गया । जानकारी दी गई कि यदि सरकार इस ओर ध्यान नहीं दिया तो आने वाला समय हमारे वंशजों के लिए चुनौती भरा होगा । बंजर भूमि में खेती नहीं होगी । इसके चलते सिर्फ भारत नहीं बल्कि पूरा विश्व में अन्न संकट उत्पन्न होने की संभावना है । लोगों ने कहा कि इस गंभीर मुद्दे पर सरकार को लेकिन नीति बनानी होगी । तभी हमारा मिट्टी लंबे समय तक उपजाऊ बना रहेगा । नीति नहीं बनी तो आने वाला समय संकट भरा होगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp