बिशप ने कहा: मृत्यु का मतलब एक अलग जीवन पाना है

सिमडेगाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

संत अन्ना महागिरजाघर में बुधवार की सुबह 5:30 बजे से कब्र पर्व के मौके पर विशेष मिस्सा पूजा का आयोजन किया गया। मिस्सा पूजा बिशप विंसेंट बरवा की अगुवाई में सम्पन्न हुआ। मिस्‍सा अनुष्‍ठान में बिशप का सहयोग सहायक पल्ली पुरोहित फादर एडमोन बाड़ा ने किया। मिस्सा पूजा में मृत परिजनों के अनंत जीवन के लिए और जो स्वर्ग की प्रतीक्षा में है उन सभी आत्मा के लिए विशेष प्रार्थना किया गया।

अपने संदेश में बिशप ने कहा कि मृत विश्वासियों के लिए प्रार्थना करना ख्रीस्तीयों की परम्परा है। अपने पूर्वजों के प्रति श्रद्धा भक्ति, सम्मान देना, उन्हें याद करना बहुत बड़ा काम है। उन्होंने कहा कि मानव मृत्यु से डरता है। क्योंकि मनुष्य प्रिय जनों से अलग कर देता है। खी्स्‍तीय जीवन में मृत्यु एक अलग जीवन पाना है।

मृत्यु के द्वारा हम आत्मिक शांति ईश्वर के द्वारा पाते हैं। कहा कि जो प्रभु येसू में विश्वास करता है वह कभी नहीं मरेगा। उन्होंने विश्वासियों को अपना जीवन ईश्वर के हाथों सौंपने और मृत विश्वासियों की प्रार्थना करने में और अधिक उद्धार बनने की अपील की। मौके पर काफी संख्या में विश्वासी उपस्थित थे। कब्र पर्व के मौके पर जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाकों के कब्रिस्तान में विशेष धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन किया गया।

धर्मावलंबियों द्वारा अपने मृत परिजनों के अनंत जीवन के लिए विशेष प्रार्थना की गई। सामटोली स्थित चर्च परिसर में धर्मप्रांत के स्व. पुरोहितों के कब्र पर विधि-विधान पूर्वक पवित्र जल का छिड़काव के बाद मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि दी। मौके पर धर्मावलंबियों को अपने पूर्वजों के कब्र के पास सुबह से प्रार्थना करते देखा गया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp