बदल रहा दलमा: ‌1.5 करोड़ की लागत से दलमा बनेगा इको टूरिज्म डेस्टिनेशन, अब तक 74 लाख मिले

जमशेदपुर

दलमा सैंक्चुरी को सजाने का चला रहा काम - jharkhand samachar

दलमा सैंक्चुरी को सजाने का चला रहा काम

स्वदेश दर्शन योजना के तहत दलमा वाइल्ड लाइफ सैंक्चुरी को विकसित करने का काम शुरू कर दिया गया है। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी स्वदेश दर्शन योजना में दलमा को भी शामिल किया गया है। इसके तहत डेढ़ करोड़ रुपए की लागत से इसे इको टूरिज्म स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है।

पहली किस्त के रूप में 74 लाख रुपए की राशि दलमा को मिल चुकी है जिससे विकास कार्य शुरू कर दिया गया है। मुख्य वन संरक्षक विश्वनाथ साह इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। दलमा के माकुलाकोचा और पिंडराबेड़ा गेस्ट हाउस के पास आकर्षक घास लगाए जा रहे हैं। म्यूजियम के आस-पास भी सजावट हो रही है।

पर्यटकों के बैठने के लिए बेंच लगाए जा रहे हैं। गेस्ट हाउस और म्यूजियम के पास छह हजार सजावटी पौधे लगाए गए हैं। जगह-जगह पेबर ब्लॉक भी बिछाए जा रहे हैं। पर्यटकों के लिए छह हाइटेक वाटर वेंडिग मशीन (वाटर स्टेशन) लगाई गई हैं।

बिछाए जा रहे पेबर्स ब्लॉक, लगाई गई हैं छह वाटर वेंडिंग मशीनें

दलमा को इको टूरिज्म डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जा रहा है। अब तक 74 लाख रुपए मिल चुके हैं। पर्यटकों के लिए दलमा में छह हाईटेक वाटर स्टेशन लगाए गए हैं। छह हजार सजावटी पौधे भी जगह-जगह लगाए गए हैं। दलमा पर्यटकों को और आकर्षित करेगा। दिनेश चंद्रा, रेंजर, दलमा

​​​​​​​क्या है स्वदेश दर्शन योजना

स्वदेश दर्शन योजना का उद्देश्य भारत में पर्यटन की क्षमता को बढ़ावा देना और विकसित करना है। इस की परिकल्पना स्वच्छ भारत अभियान, स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया जैसी अन्य योजनाओं के साथ तालमेल बैठाने के लिए की गई है।

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने योजना के तहत झारखंड में दो सर्किट को मंजूरी दी है। इसमें दलमा भी शामिल है। इसका उद्देश्य यहां ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करना और स्थानीय कला-संस्कृति को अलग पहचान दिलाना है। इससे यहां के लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp