जागरूकता अभियान: बाल विवाह उन्मूलन में जागरूकता और सामाजिक सहभागिता जरूरी, नुक्कड़ नाटक दल को हरी झंडी दिखाकर उपायुक्त ने किया रवाना

  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamtara
  • Awareness And Social Participation Is Necessary In The Abolition Of Child Marriage, The Deputy Commissioner Flagged Off The Nukkad Natak Dal

जामताड़ा38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आईसीआरडब्ल्यू एवं जिला समाज कल्याण कार्यालय, जामताड़ा के संयुक्त तत्वावधान में समाहरणालय जामताड़ा परिसर से बाल विवाह उन्मूलन हेतु उमंग कार्यक्रम अंतर्गत नुक्कड़ नाटक टीम को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। उपायुक्त फैज अक अहमद मुमताज ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मौके पर उजाले की ओर बिटिया की दौड़ अपनी पढ़ाई पूरी करो, अपने सपने को साकार करो संबंधित पंपलेट का विमोचन उपायुक्त, अपर समाहर्ता एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने किया।

मौके पर उपायुक्त ने नुक्कड़ नाटक टीम को शुभकामनाएं देते हुए कहा आप लोग बेहतर तरीके से अपने अभिनय का प्रदर्शन करते हुए बाल विवाह उन्मूलन हेतु लोगों को जागरूक करें तथा क्षेत्र में अच्छा संदेश दे। उन्होंने कहा कि राज्य में प्राथमिक और उच्च कक्षाओं में किशोरियों का समय पूर्व विद्यालय छोड़ देना एवं विद्यालय तक पहुंच ही ना पाना बाल विवाह को बढ़ावा देने में मुख्य चिंता के विषय हैं। बाल विवाह के उन्मूलन हेतु सामाजिक सहभागिता भी बहुत जरूरी है।

ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के बीच जानकारी हो एवं किशोरियों का शादी कम उम्र में नहीं हो पाए। शादी का निश्चित उम्र में उसकी शादी हो। वहीं जिले की किशोरियां सशक्त हों और अपने अधिकारों के लिए आवाज उठा पाएं। वहीं उन्होंने टीम को निर्देश देते हुए कहा कि कार्यक्रम के माध्यम से महत्वाकांक्षी योजना सावित्री बाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के बारे में जागरूकता का प्रसार करेंगे ताकि अधिक से अधिक किशोरी को इस योजना का लाभ मिल सके एवं बच्चियां पढ़ाई की ओर अग्रसर हो सकें।वहीं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सविता कुमारी ने बताया कि जिला अंतर्गत सभी प्रखंडों के विभिन्न स्थानों में उमंग कार्यक्रम के माध्यम से 10-18 वर्ष की किशोरियों के साथ लिंग आधारित भेदभाव की समाप्ति एवं समाज मे लड़कियों के प्रति सकारात्मक सोच पैदा करेगी, ताकि किशोरियों के जीवन कौशल में सुधार आ सके और वे उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित हों।

यह अभियान किशोरियों की शिक्षा प्राप्ति के महत्व और उससे जुड़े उनके जीवन में आने वाले सकारात्मक परिणामों को उल्लेख करेगा। यह अभियान समुदाय स्तर पर उन सभी लोगों को जागरूक करेगा जो समुदाय तथा परिवार में प्रमुखता से विवाह संबंधित निर्णय लेते हैं। मौके पर उपरोक्त के अलावा अपर समाहर्ता सुरेन्द्र कुमार, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सविता कुमारी, उमंग कार्यक्रम के संबंधित कर्मी सहित अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp