छावनी परिषद की कार्रवाई: ओल्ड डेली मार्केट को खाली कराने के लिए चला बुलडोजर, लाठीचार्ज में 5 किसान घायल, किसानों ने की जमकर पत्थरबाजी

रामगढ़एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
आक्रोशित किसानों द्वारा घरकर रखा गया  बुलडोजर, छावनी कर्मियों की पिटाई से घायल किसान सतलाल महतो। लोगों में कार्रवाई से आक्रोश । - Dainik Bhaskar

आक्रोशित किसानों द्वारा घरकर रखा गया बुलडोजर, छावनी कर्मियों की पिटाई से घायल किसान सतलाल महतो। लोगों में कार्रवाई से आक्रोश ।

शहर के ओल्ड डेली मार्केट को खाली कराने के लिए बुलडोजर लेकर छावनी परिषद के सीईओ एमएस हरिविजय दर्जनों कर्मियों व पुलिस बल के साथ सोमवार दोपहर डेली मार्केट पहुंचे। जहां उनके निर्देश पर सफाईकर्मियों ने किसानों के सब्जियों को जब्त करते हुए ट्रैक्टर पर लाद कर ले जाने लगे। वही बुलडोजर से बाजार परिसर के दुकानों को भी तोड़ना आरंभ कर दिया। जिसपर डेली मार्केट के किसानों ने विरोध जताते हुए कहा कि बाजार का मामला वर्तमान में कोर्ट में चल रहा है। कोर्ट से अगर बाजार खाली कराने का निर्देश है, तो हमसब स्वत: दुकानों को खाली कर देंगे।

इसके बावजूद कर्मी पुलिस बल की मौजूदगी में दुकानों को तोड़ने लगे। इसपर किसानों ने विरोध जताया, तो छावनी सीईओ ने हटाने का निर्देश दे दिया। इसकेे बाद छावनी कर्मियों ने पुलिस की मौजूदगी में ही किसानों पर टूट पड़े । लाठी के प्रहार से कई किसान घायल हो गए। किसानों के घायल होने के बाद सब्जी विक्रेता आक्रोशित होकर कर्मियों को सब्जी फेंक व पत्थर से खदेड़ने लगे। छावनी सीईओ के साथ धक्का-मुक्की तक कर दिया। मामला बिगड़ता देख थाना प्रभारी सुशील कुमार किसी तरह बीच-बचाव कर डेली मार्केट से उन्हें बाहर निकाला व छावनी कर्मियों को बाजार से जाने को कहा।

बाजार को खाली कराने आये छावनी परिषद के कर्मियों ने लाठी से पीटकर पांच किसानों को घायल कर दिया। जिसमें तीन पुरुष व दो महिला किसान शामिल हैं। घायलों में सतलाल महतो, बलराम प्रसाद कुशवाहा, प्रदीप गुप्ता, फुलेश्वरी देवी और सोलिया देवी शामिल हैं। मारपीट की घटना के बाद किसान मजदूर संघ के आह्वान पर घायल किसानों ने थाने में छावनी परिषद के खिलाफ आवदेन भी दिया। इधर छावनी परिषद से भी थाने में आवेदन दिया ।

किसी कर्मी ने मारपीट नहीं की, किसानों ने ही कर्मियों पर पथराव किया : दंडाधिकारी
छावनी सीईओ एम एस हरिविजय के मोबाइल पर बारंबार कॉल के बाद भी उन्होंने किसी पत्रकार का फोन रिसिव नहीं किया। जबकि मार्केट को खाली कराने पहुंचे छावनी परिषद द्वारा नियुक्ति दंडाधिकारी एसएन राव, के अलावे कर्मियों में ओमप्रकाश चौहान व गया प्रसाद ने बताया कि किसानों के साथ छावनी परिषद के किसी भी कर्मी ने मारपीट नहीं की है। किसानों ने ही छावनी परिषद के कर्मियों पर पथराव किया है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp