अमृत सरोवर योजना में गड़बड़झाला: बरसात का पानी बचाने के लिए बनाने थे दो तालाब, पर 4 फीट का गड्‌ढा खोद अफसरों व बिचौलियों ने निकाल लिए 33 लाख रु.

मेदिनीनगर4 घंटे पहलेलेखक: संजय तिवारी

  • कॉपी लिंक
पुराने नाले को बांधकर बनाया तालाब, पर एक बूंद पानी नहीं - Dainik Bhaskar

पुराने नाले को बांधकर बनाया तालाब, पर एक बूंद पानी नहीं

लातेहार जिले के बालूमाथ प्रखंड में अमृत सरोवर योजना में बड़ी हेराफेरी की गई है। यहां भूमि संरक्षण विभाग द्वारा बरसात का पानी बचाने के लिए दो तालाब खोदने थे। पर, तालाब के नाम पर 4 फीट गड्‌ढा खोदकर 33 लाख रुपए की निकासी कर ली गई है। इन गड्‌ढों में पानी भी नहीं जमा हो सका है। आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर अमृत सरोवर बनाने की योजना तैयार की गई। इसका मुख्य उद्देश्य बरसाती पानी का संरक्षण करना था, ताकि आस-पास के खेतों में पटवन हो सके। जलस्तर भी ठीक रहे।

पानी पंचायत का किया गठन, लेकिन काम दूसरे से कराया
बसिया पंचायत के नगड़ा गांव में मोरसेरवा तालाब जीर्णोद्धार का काम हुआ। 4 फीट मिट्टी खोदकर तालाब बनाया गया है। योजना बोर्ड पर क्षेत्र 01.09 एकड़, लंबाई 73 मी. व चौड़ाई 60 मी. अंकित है। प्राक्कलन राशि नहीं लिखी गई है। तालाब के लिए भूमि संरक्षण विभाग ने पानी पंचायत का गठन किया था। अध्यक्ष बजरंगी यादव और सचिव बहादुर साव हैं। दोनों ने कहा- हमें राशि 16 लाख बताई गई थी। पूरा काम विभाग ने बिचौलिए के माध्यम से कराया है।

पुराने नाले को बांधकर बनाया तालाब, पर एक बूंद पानी नहीं
सेरेगड़ा पंचायत के बुकरु गांव में बहेरियाथान तालाब निर्माण कराया गया। योजना स्थल के बोर्ड में तालाब का क्षेत्र 01.01 एकड़ है। लंबाई 67 मी. व चौड़ाई 61 मी. है। योजना बोर्ड में पानी पंचायत के अध्यक्ष व सचिव का नाम तक अंकित नहीं है। इस योजना की प्राक्कलन राशि 17 लाख रुपए थी। तालाब पुराने नाले के बीच में ही बना दी गई है। यहां भी विभाग के बिचौलिए ने ही काम किया है। तालाब के नाम पर गड्‌ढा ही खुदा है।

पंचायत सेवक बोले- हमें नहीं दिया गया था काम: बसिया के पंचायत सेवक सुरेश ने कहा कि इस योजना से हमें कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई थी। इसका भुगतान भी जिला भूमि संरक्षण विभाग के कार्यालय से ही किया गया है। आनन-फानन में दोनों योजना को पूरा बताकर रिपोर्ट भी सौंप दी गई। 15 अगस्त को दोनों स्थानों पर तिरंगा भी फहराया। विभाग के अफसरों व बिचौलिए ने सरकारी पैसे की बंदरबांट कर ली।
उपायुक्त से दाेषियाें पर कार्रवाई की मांग : सेरेगड़ा के पंचायत के ग्रामीणों ने जिले के उपायुक्त भोर सिंह यादव से तालाब निर्माण में हुई गड़बड़ी की जांच कर इसमें शामिल लोगों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp