अभिभावकों पर फिर बढ़ेगा फीस का बोझ: नए सत्र से एडमिशन व ट्यूशन फीस बढ़ाने की तैयारी में स्कूल, 10 से 15% बढ़ोतरी तय

जमशेदपुर

शहर के निजी स्कूल एक बार फिर अभिभावकों काे फीस बढ़ोतरी का झटका देने वाले हैं। - jharkhand samachar

शहर के निजी स्कूल एक बार फिर अभिभावकों काे फीस बढ़ोतरी का झटका देने वाले हैं।

शहर के निजी स्कूल एक बार फिर अभिभावकों काे फीस बढ़ोतरी का झटका देने वाले हैं। शैक्षणिक 2023-24 से स्कूल 10 से 15 प्रतिशत तक ट्यूशन फीस बढ़ाने की तैयारी कर रहे हैं। इसके अलावा एडमिशन फीस में भी भारी भरकम बढ़ोतरी की तैयारी की जा रही है। इसका असर नया नामांकन लेनेवाले विद्यार्थियों के अभिभावकों पर पड़ेगा। इसे लेकर स्कूलाें में सहमति बन गई है। स्कूल प्रबंधन का तर्क है कि दो सालों से फीस में बढ़ोतरी नहीं हुई है, जबकि शिक्षकों और कर्मचारियों के वेतन-भत्ते की बढ़ोतरी सहित तमाम खर्च का बोझ लगातार बढ़ा है, ऐसे में फीस में बढ़ोतरी जरूरी है। स्कूल नामांकन शुल्क से संबंधित जानकारी इंट्री कक्षा में एडमिशन के लिए बच्चाें की सूची के साथ साझा करेंगे, जबकि ट्यूशन फीस अप्रैल से नए सत्र से लागू हाेगा।

पिछले वर्ष तीन हजार रुपए तक की फीस बढ़ोतरी स्कूलाें ने की थी

अगर फीस बढ़ोतरी की बात करें ताे पिछले साल भी स्कूलाें ने फीस बढ़ोतरी की थी। लेकिन यह बढ़ोतरी नामांकन शुल्क में हुई थी। इसके अलग- अलग स्कूलाें ने 100 से 3 हजार रुपए तक की फीस बढ़ोतरी की थी। इस पर शिक्षा विभाग ने स्कूलाें काे नाेटिस भी जारी किया था। लेकिन स्कूलाें ने जेट के आदेश का हवाला देते हुए फीस बढ़ोतरी काे जायज ठहराया था।

अधिकतर स्कूलाें में आवेदन की प्रक्रिया पूरी

निजी स्कूलाें में नए सत्र में नामांकन की बात करें ताे अधिकतर स्कूलाें में आवेदन की प्रक्रिया पूरी हाे गई है और कुछ स्कूलाें में इस माह आवेदन लिया जाएगा। आवेदन की प्रक्रिया पूरी हाेने के बाद अगले महीने आवेदन पत्राें की स्क्रूटनी की जाएगी। वहीं 1 से 15 जनवरी तक लाॅटरी की प्रक्रिया चलेगी जबकि जनवरी के तीसरे शनिवार काे चयनित बच्चाें के नाम की सूची जारी की जाएगी, जिसके आधार पर नामांकन की प्रक्रिया पूरी हाेगी।

जेट के आदेश के तहत हाेगी बढ़ोतरी

स्कूलाें काे तर्क है कि झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण के आदेश के अनुसार स्कूल स्तरीय समिति अधिकतम 10 फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है। इससे अधिक बढ़ोतरी पर स्कूल स्तरीय समिति से प्रस्ताव जिला स्तरीय समिति को जाएगा। वे जाे फीस बढ़ोतरी करेंगे वह झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण (जेट) के आदेश के दायरे में हाेगा इस लिए उन्हें जिला स्तरीय समिति से अनुमति लेने की जरूरत नहीं हाेगी।

बी चंद्रशेखरन ने कहा- जो भी बढ़ोतरी होगी वह नियमों के दायरे में होगी

प्राइवेट अनएडेड स्कूल एसाेसिएशन के महासचिव बी चंद्रशेखरन ने कहा कि जाे भी बढ़ोतरी हाेगी वह नियमाें के दायरे में हाेगी। स्कूल कुछ भी ऐसा नहीं करेंगे जिससे अभिभावकाें पर अधिक बाेझ बढ़े। फीस में मामूली वृद्धि की जा सकती है।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

YouTube
YouTube
Instagram
WhatsApp